Monday, June 18, 2012

मां के ठाकुर जी भोले हैं

ठंडे पानी से नहलाती
ठंडा चन्दन उन्हें लगाती
उनका भोग हमें दे जाती
तब भी कभी न बोले हैं
मां के ठाकुर जी भोले हैं।

-- महादेवी वर्मा

No comments:

Popular Posts